1

The Fact About baglamukhi mantra That No One Is Suggesting

News Discuss 
अर्थात् साधक गम्भीराकृति, मद से उन्मत्त, तपाए हुए सोने के समान रङ्गवाली, पीताम्बर धारण किए वर्तुलाकार परस्पर मिले हुए पीन स्तनोंवाली, सुवर्ण-कुण्डलों से मण्डित, पीत-शशि-कला-सुशोभित, मस्तका भगवती पीताम्बरा का ध्यान करे, जिनके दाहिने दोनों हाथों में मुद्र्गर और पाश सुशोभित हो रहे हैं तथा वाम करों में वैरि-जिह्ना और https://vashikaran10864.digitollblog.com/25216460/not-known-facts-about-baglamukhi-mantra

Comments

    No HTML

    HTML is disabled


Who Upvoted this Story